Skip to content

    Hindi Current Affairs 05.01.2021

    आज के Hindi Current Affairs 05.01.2021 में  दिनांक 02.01.2021 से 05.01.2021 तक के आवश्‍यक करेंट अफेयर्स लाईट हाउस की भारत के छ: राज्‍यों में आधारशीला, देश की पहली स्‍वदेशी कोरोना वैक्सिन, विषयों को रखा गया है।

    1. भारत के छ: राज्‍यो में लाईट हाउस प्रोजेक्‍ट की आधारशीला:-

    नए साल के पहले दिन शुक्रवार दिनांक 01.01.2021 को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 6 राज्‍यो में लाईट आउस प्रोजेक्‍ट की आधारशीला रखी,

    जिसके अंतर्गत मध्‍यप्रदेश के इंदौर में, तमिनलाडू के चेन्‍नई, गुजरात के राजकोट, झारखंड के रांची, उत्‍तरप्रदेश के लखनऊ तथा त्रिपूरा के अगरथला में लगभग 1000 हाउस का निर्माण वैश्विक आवासीय प्रौद्योगिकी चुनौति भारत के तहत किया जाएगा।

    इस परियोजना के अंतर्गत घरो का निर्माण नेशनल बिल्डिंग कोड-2016 के द्वारा निर्धारित आयामी आवश्‍कताओं अनुसार किया जाएगा।

    अलग-अलग राज्‍यों के अलग-अलग शहरों में किए जाने वाले निर्माण कार्य में कई प्रकार की तकनीकों का उपयोग किया जाएगा।

    मध्‍यप्रदेश के इंदौर में Prefabricated Sandwich Panel System आधारित तकनीक का उपयोग कर घरों का निर्माण किया जाएगा।

    गुजरात के राजकोट में घरों के निर्माण के लिए Monolithic Concrete Construcion आधारित प्रौद्योगिकी का उपयोग किया जाएगा,

    इसी प्रकार अन्‍य राज्‍य तमिलनाडू के चेन्‍नई में Precast Concrete Construction System- Precast components assembled at site,

    झारखंड के रांची में Precast Concrete Construction System-3D Precast Volumetric,

    उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में Stay In-place Formwork System,

    त्रिपुरा के अगरथला में Light Gauge Steel Structural System & Preengineered Steel Structural System तकनीक का उपयोग किया जाएगा।

    आज के हिन्‍दी करेंट अफेयर्स में लाईट हाउस की भारत के छ: राज्‍यों में आधारशीला, देश की पहली स्‍वदेशी कोरोना वैक्सिन, विषयों को रखा गया है। भारत के छ: राज्‍यो में लाईट हाउस प्रोजेक्‍ट की आधारशीला:- नए साल के पहले दिन शुक्रवार दिनांक 01.01.2021 को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 6 राज्‍यो में लाईट आउस प्रोजेक्‍ट की आधारशीला रखी, जिसके अंतर्गत मध्‍यप्रदेश के इंदौर में, तमिनलाडू के चेन्‍नई, गुजरात के राजकोट, झारखंड के रांची, उत्‍तरप्रदेश के लखनऊ तथा त्रिपूरा के अगरथला में लगभग 1000 हाउस का निर्माण वैश्विक आवासीय प्रौद्योगिकी चुनौति भारत के तहत किया जाएगा। इस परियोजना के अंतर्गत घरो का निर्माण नेशनल बिल्डिंग कोड-2016 के द्वारा निर्धारित आयामी आवश्‍कताओं अनुसार किया जाएगा। अलग-अलग राज्‍यों के अलग-अलग शहरों में किए जाने वाले निर्माण कार्य में कई प्रकार की तकनीकों का उपयोग किया जाएगा। मध्‍यप्रदेश के इंदौर में Prefabricated Sandwich Panel System आधारित तकनीक का उपयोग कर घरों का निर्माण किया जाएगा। गुजरात के राजकोट में घरों के निर्माण के लिए Monolithic Concrete Construcion आधारित प्रौद्योगिकी का उपयोग किया जाएगा, इसी प्रकार अन्‍य राज्‍य तमिलनाडू के चेन्‍नई में Precast Concrete Construction System- Precast components assembled at site, झारखंड के रांची में Precast Concrete Construction System-3D Precast Volumetric, उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ में Stay In-place Formwork System, त्रिपुरा के अगरथला में Light Gauge Steel Structural System & Preengineered Steel Structural System तकनीक का उपयोग किया जाएगा। भारत में दो कोरोना वैक्सिन को मिली आपातकाल में सीमित उपयोग की मंजूरी:- रविवार दिनांक 03.01.2021 को Drugs Controller General of India तथा Central Drugs and Standards Committee (CDSCO) ने भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई Covaxin तथा Oxford and Astrazeneca द्वारा विकसित तथा सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा तैयार की गई Covishield कोरोना वैक्सिन को Emergency की स्थिति में Limited उपयोग की अनुमति प्रदान दी है। 1. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के साथ मिलकर भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई, कोरोना की वैक्सीन Covaxin को ' क्लिनिकल ट्रायल मोड ' में Emergency में सीमित एवं सावधानीपूर्वक उपयोग की मंजूरी दी गई है। 2. Oxford and Astrazeneca द्वारा विकसित तथा पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (S.I.I.) द्वारा देश में ही तैयार की गई कोरोना वैक्सिन Covishield देश की पहली कोरोना वैक्सिन है, जिसे सर्वप्रथम भारत में सीमित उपयोग की मंजूरी मिली है। 3. सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे दुनिया की सबसे बड़ी टीका निर्माता Company है. 4. देश की पहली स्‍वदेशी कोरोना वैक्सिन भारत बायोटेक द्वारा आई.सी.एम.आर. के साथ मिलकर तैयार की गई Covaxin है। नए साल पर आस्‍ट्रेलिया ने अपने राष्‍ट्रगान में किया बदलाव:- शुक्रवार दिनांक 01.01.2021 को आस्‍ट्रेलिया के प्रधान मंत्री Scott Morrison ने घोषणा की कि आस्‍ट्रेलिया के राष्‍ट्रगान में एक शब्‍द का बदलाव किया। आस्‍ट्रेलिया के राष्‍ट्रगान की दूसरी लाईन “For we are young and free” को बदलकर “For we are one and free” कर दिया, जिसमें Young शब्‍द को One शब्‍द में बदला गया। अमेरिका ने H-1B पर लगे प्रतिबंध की अवधि को बढाया:- दिनांक 01.01.2021 शुक्रवार को अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने एच-1बी वीजा पर लगे प्रतिबंध को अगले तीन माह अर्थात 31 मार्च 2021 तक के लिए बड़ा दिया है। एच-1बी वीजा के इस प्रतिबंध के कारण भारत के आई.टी. प्रोफेशनल्‍स पर इसका प्रभाव पडेगा। H-1B वीजा क्‍या होता है:- United States में दूसरे देशों के Employees को नौकरी करने के लिए H-1B वीजा प्रदाय किया जाता है। इसकी अवधि सीमित होती है। इस प्रकार का वीजा अधिकतम 6 साल के लिए मिलता है, जिसे जरूरत पडने पर USCIS द्वारा 3 साल के लिए बढाया जा सकता है। किसी भी कर्मचारी को कुछ परिस्थितियों में छह वर्ष से अधिक समय तक एच H1B status की अवधि प्रदाय की जा सक‍ती हैं, यदि वह रोजगार-आधारित निवास के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया में है। H-1B वीजा की संख्‍या प्रत्‍येक वर्ष के लिए लिमिटेड होती है, जिसे Cap कहते है, जो 65,000 है, जिसमें से 20,000 उन लोगो के लिए आरक्षित रहती है जिन्‍होने United States कॉलेज अथवा यूनिवर्सिटी से मास्‍टर डिग्री या अन्‍य कोई उच्‍च शिक्षा ग्रहण की हो। United States के H-1B वीजा के लिए कुछ निर्धारित योग्‍यता होनी चाहिए:- 1. आवेदक के पास स्‍नातक डिग्री अथवा कोई स्‍पेशलिटी ड्रिगी होनी चाहिए। 2. आवेदन करने के पूर्व आवेदक को United States के श्रम विभाग से labour condition application (LCA) प्राप्‍त करना होता है। 3. जिस आवेदक ने पहले H-1B वीजा प्राप्‍त कर चुका है, अथवा जिसे H-1B वीजा का दर्जा मिला हुआ है, उसे H-1B वीजा की लिमिटेशन से छूट दी जाती है। 4. H-1B वीजा प्राप्‍त कर्मचारी के पति/पत्‍नी और नाबालिग बच्‍चे संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका में रहने तथा अध्‍ययन करने के लिए अधिकृत है, लेकिन उन्‍हें काम करने की अनुमति नहीं है। भारत पूरे विश्‍व में पहला देश बन गया, जिसने हालही में आए कोरोना वायरस केनए स्‍ट्रेन को आइसोलेट किया:- कोरोना वायरस के हालही में सामने आए नए स्‍ट्रेन को सर्वप्रथम भारत ने किया आइसोलेट। इस प्रकार नए स्‍ट्रेन को आइसोलेट और कल्‍चर करने में भारत विश्‍व में पहला देश बन गया है। आईसोलेट तथा कलचर की प्रक्रिया के द्वारा वायरस प्रभावित कोशिकाओं को वैज्ञानिक रिसर्च लेब में लगाया जाकर उनकी संख्‍या में वृद्धि की जाती है, तथा यइ प्रक्रिया वायरस की वैक्‍सीन अथवा दवाई बनाने के लिए अहम होता है। नए स्‍ट्रेन को आईसोलेट एवं कल्‍चर करने की यह प्रक्रिया वीरो सेल्‍स लाइंस का उपयोग करके नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरोलाजी (एन.आई.वी) पुणे की लेब में की गई है। **भारत सरकार द्वारा आपातकाल की स्थिति में सीमित उपयोग हेतु अनुमति दी गई, वैक्सिन ‘’कोवैक्सिन’ को विकसित करने के लिए भी यही प्रक्रिया अपनाई गई थी, जिसमें एन.आई.वी. द्वारा कोरोना वायरस के प्रारंभिक स्‍ट्रेन को आईसोलेट व कल्‍चर किया था, उसी प्रकिया के परिणामों के आधार पर भारत बायोटेक द्वारा आई.सी.एम.आर. की मदद से ‘’कोवैक्सिन’’ को विकसित किया है। पडौसी देश पाकिस्‍तान की पी.आई.ए. एयरलाईंस का मुख्‍यालय कराची से बदलकर इस्‍लामाबाद स्‍थानांतरित:- पाकिस्‍तान की एयरलाईंस पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाईंस का हालही में मुख्‍यालय इस्‍लामाबाद में शिफ्ट कर दिया गया। इससे पहले पी.आई.ए. का मुख्‍यालय कराची में था।

    ऊपर बताए गए 6 राज्‍यों के बारे में संक्षिप्‍त जानकारी

    श्री विजय रूपाणी गुजरात के वर्तमान मुख्‍यमंत्री है।

    गांधीनगर गुजरात की राजधानी है।

    श्री आचार्य देवरत गुजरात के वर्तमान राज्‍यपाल है।

    Hindi Current Affairs 05-01-2021

    श्री शिवराज सिंह चौहान Madhya Pradesh State के वर्तमान मुख्‍यमंत्री है।

    भोपाल मध्‍यप्रदेश की राजधानी है।

    श्रीमति आनंदीबेन पटेल मध्‍यप्रदेश की वर्तमन राज्‍यपाल है।

    श्री योगी आदित्‍यनाथ Uttar Pradesh State के वर्तमान मुख्‍यमंत्री है।

    लखनऊ उत्‍तरप्रदेश की राजधानी है।

    श्रीमति आनंदीबेन पटेल उत्‍तर प्रदेश की वर्तमन राज्‍यपाल है।

    श्री Biplab Kumar Deb  त्रिपुरा के वर्तमान मुख्‍यमंत्री है।

    अगरथला त्रिपुरा की राजधानी है।

    श्री Ramesh Bais त्रिपुरा की वर्तमाान राज्‍यपाल है।

    श्री Edappadi K. Palaniswami तमिलनाडू के वर्तमान मुख्‍यमंत्री है।

    चेन्‍नई तमिलनाडू की राजधानी है।

    श्री बनवारी लाल पुरोहित तमिलनाडू के वर्तमान राज्‍यपाल है।

    श्री Hemant Soren झारखंड के वर्तमान मुख्‍यमंत्री है।

    रांची झारखंंड की राजधानी है।

    सुश्री द्रौपदी मुर्मू झारखंड के वर्तमान राज्‍यपाल है।

    2. भारत में दो कोरोना वैक्सिन को मिली आपातकाल में सीमित उपयोग की मंजूरीHindi Current Affairs 05.01.2021 में:-

    रविवार दिनांक 03.01.2021 को Drugs Controller General of India तथा Central Drugs and Standards Committee (CDSCO) ने भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई Covaxin तथा

    Hindi Current Affairs 05-01-2021

     Oxford and Astrazeneca द्वारा विकसित तथा सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा तैयार की गई Covishield कोरोना वैक्सिन को Emergency की स्थिति में Limited उपयोग की अनुमति प्रदान दी है।

    1. भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के साथ मिलकर भारत बायोटेक द्वारा विकसित की गई,
    2. कोरोना की वैक्सीन Covaxin को ‘ क्लिनिकल ट्रायल मोड ‘ में Emergency में सीमित एवं सावधानीपूर्वक उपयोग की मंजूरी दी गई है।
    3. Oxford and Astrazeneca द्वारा विकसित तथा पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (S.I.I.) द्वारा देश में ही तैयार की गई कोरोना वैक्सिन Covishield देश की पहली कोरोना वैक्सिन है,
    4. जिसे सर्वप्रथम भारत में सीमित उपयोग की मंजूरी मिली है।
    5. सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे दुनिया की सबसे बड़ी टीका निर्माता Company है.
    6. देश की पहली स्‍वदेशी कोरोना वैक्सिन भारत बायोटेक द्वारा आई.सी.एम.आर. के साथ मिलकर तैयार की गई Covaxin है।

    **Covaxin भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई है, यह देश की पहली स्‍वदेशी वैक्सिन है।

    **Covishield सीरम इंस्‍टीट्यूट द्वारा तैयार की गई है।

    3.नए साल पर आस्‍ट्रेलिया ने अपने राष्‍ट्रगान में किया बदलाव:-

    शुक्रवार दिनांक 01.01.2021 को आस्‍ट्रेलिया के प्रधान मंत्री Scott Morrison ने घोषणा की कि आस्‍ट्रेलिया के राष्‍ट्रगान में एक शब्‍द का बदलाव किया।

    आस्‍ट्रेलिया के राष्‍ट्रगान की दूसरी लाईन “For we are young and free” को बदलकर “For we are one and free” कर दिया, जिसमें Young शब्‍द को One शब्‍द में बदला गया।

    **आस्‍ट्रेलिया के वर्तमान प्रधानमंत्री Scott Morrison है।

    ** Canberra आस्‍ट्रेलिया की वर्तमान राजधानी है।

    4. अमेरिका ने H-1B पर लगे प्रतिबंध की अवधि को बढाया:-

    Hindi Current Affairs 05.01.2021 अंतर्गत दिनांक 01.01.2021 शुक्रवार को अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने एच-1बी वीजा पर लगे प्रतिबंध को अगले तीन माह अर्थात 31 मार्च 2021 तक के लिए बड़ा दिया है।

    एच-1बी वीजा के इस प्रतिबंध के कारण भारत के आई.टी. प्रोफेशनल्‍स पर इसका प्रभाव पडेगा।

    **अमेरिका के वर्तमान राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रम्‍प है ।

    **ननिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडेन है।

    ** Washington, D.C.   अमेरिका की वर्तमान राजधानी है।

    Hindi Current Affairs 05.01.2021 में H-1B वीजा क्‍या होता है:-

    United States में दूसरे देशों के Employees को नौकरी करने के लिए H-1B वीजा प्रदाय किया जाता है।

    इसकी अवधि सीमित होती है। इस प्रकार का वीजा अधिकतम 6 साल के लिए मिलता है,

    जिसे जरूरत पडने पर USCIS द्वारा 3 साल के लिए बढाया जा सकता है।

    किसी भी कर्मचारी को कुछ परिस्थितियों में छह वर्ष से अधिक समय तक एच H1B status की अवधि प्रदाय की जा सक‍ती हैं, यदि वह रोजगार-आधारित निवास के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया में है।

    H-1B वीजा की संख्‍या प्रत्‍येक वर्ष के लिए लिमिटेड होती है, जिसे Cap कहते है, जो 65,000 है,

    जिसमें से 20,000 उन लोगो के लिए आरक्षित रहती है जिन्‍होने United States कॉलेज अथवा यूनिवर्सिटी से मास्‍टर डिग्री या अन्‍य कोई उच्‍च शिक्षा ग्रहण की हो।

    United States के H-1B वीजा के लिए कुछ निर्धारित योग्‍यता होनी चाहिए:-

    1. आवेदक के पास स्‍नातक डिग्री अथवा कोई स्‍पेशलिटी ड्रिगी होनी चाहिए।
    2. आवेदन करने के पूर्व आवेदक को United States के श्रम विभाग से labour condition application(LCA) प्राप्‍त करना होता है।
    3. जिस आवेदक ने पहले H-1B वीजा प्राप्‍त कर चुका है, अथवा जिसे H-1B वीजा का दर्जा मिला हुआ है, उसे H-1B वीजा की लिमिटेशन से छूट दी जाती है।
    4. H-1B वीजा प्राप्‍त कर्मचारी के पति/पत्‍नी और नाबालिग बच्‍चे संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका में रहने तथा अध्‍ययन करने के लिए अधिकृत है, लेकिन उन्‍हें काम करने की अनुमति नहीं है।

    5. भारत पूरे विश्‍व में पहला देश बन गया, जिसने हालही में आए कोरोना वायरस केनए स्‍ट्रेन को आइसोलेट किया :-

    कोरोना वायरस के हालही में सामने आए नए स्‍ट्रेन को सर्वप्रथम भारत ने किया आइसोलेट।

    इस प्रकार नए स्‍ट्रेन को आइसोलेट और कल्‍चर करने में भारत विश्‍व में पहला देश बन गया है।

    आईसोलेट तथा कलचर की प्रक्रिया के द्वारा वायरस प्रभावित कोशिकाओं को वैज्ञानिक रिसर्च लेब में लगाया जाकर उनकी संख्‍या में वृद्धि की जाती है,

    तथा यइ प्रक्रिया वायरस की वैक्‍सीन अथवा दवाई बनाने के लिए अहम होता है।

    नए स्‍ट्रेन को आईसोलेट एवं कल्‍चर करने की यह प्रक्रिया वीरो सेल्‍स लाइंस का उपयोग करके नेशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ वायरोलाजी (एन.आई.वी) पुणे की लेब में की गई है।

    **भारत सरकार द्वारा आपातकाल की स्थिति में सीमित उपयोग हेतु अनुमति दी गई, वैक्सिन ‘’कोवैक्सिन’ को विकसित करने के लिए भी यही प्रक्रिया अपनाई गई थी,

    जिसमें एन.आई.वी. द्वारा कोरोना वायरस के प्रारंभिक स्‍ट्रेन को आईसोलेट व कल्‍चर किया था,

    उसी प्रकिया के परिणामों के आधार पर भारत बायोटेक द्वारा आई.सी.एम.आर. की मदद से ‘’कोवैक्सिन’’  को विकसित किया है।

    यहां आपके लिए Hindi Current Affairs 05.01.2021 में महत्‍वपूर्ण करेंट अफेयर्स विस्‍तार पूर्वक बताए गए है।

    6. पडौसी देश पाकिस्‍तान की पी.आई.ए. एयरलाईंस का मुख्‍यालय कराची से बदलकर इस्‍लामाबाद स्‍थानांतरित:-

    पाकिस्‍तान की एयरलाईंस पाकिस्‍तान इंटरनेशनल एयरलाईंस का हालही में मुख्‍यालय इस्‍लामाबाद में शिफ्ट कर दिया गया।

    इससे पहले पी.आई.ए. का मुख्‍यालय कराची में था।

    **पाकिस्‍तान के वर्तमान प्रधानमंत्री इमरान खान है।

    ** इस्‍लामाबाद पाकिस्‍तान की वर्तमान राजधानी है।

    7. S.A.I.L की पहली महिला अध्‍यक्ष बनी सुश्री सोमा मंडल:-

    दिनांक 01.01.2021 शुक्रवार को सुश्री सोमा मंडल ने स्‍टील ऑथोरिटी ऑफ इंडिया लि. का अध्‍यक्ष पद ग्रहण किया।

    इस प्रकार वह पहली महिला बन गई है जिन्‍होंने SAIL के अध्‍यक्ष पद को ग्रहण किया है।

    यह पद संभालने के पूर्व सुश्री सोमा मंडल स्‍टील ऑथोरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड में ही वाणिज्यिक निदेशक के पद पर थी।

    इसके साथ ही सुश्री सोमा मंडल नेशनल एल्‍यूमिनियम कंपनी लि. (NALCo) में भी वाणिज्यिक निदेश के रूप में कार्य कर रही है।

    8. भारत का राष्‍ट्रध्‍वज फहराया यू.एन.एस.सी. में Hindi Current Affairs 05.01.2021 में:-

    हालही में संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद के अस्‍थाई सदस्‍य के रूप में चयनित हुए भारत का राष्‍ट्रध्‍वज सोमवार दिनांक 04.01.2021 को संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में लगाया गया।

    तथा दिनांक 04.01.2021 से ही यू.एन.एस.सी. में भारत का दो वर्षीय कार्यकाल प्रारंभ हो गया।

    हमारे देश भारत के साथ-साथ नार्वे, आयरलैंड, केन्‍या तथा मैक्सिको भी यू.एन.एस.सी. में अस्‍थाई सदस्‍य के रूप में चयनित हुए है।

    **यू.एन.एस.सी. के स्‍थाई सदस्‍य पांच है।

    **चीन, फ्रांस, रूस, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.